Skip to content
Published August 12, 2019

आज हम सीखेंगे की On Page SEO  क्या होता है और इसे किस तरह से किया जाता है.

“On Page” मतलब  “Web page के ऊपर” किये जाने वाले बदलाव जिससे की आपकी वेबसाइट की Search Ranking Improve की जा सके!”

जब आप अपनी Web Page  की Presentation, appearance और Sharablility को improve करते है तो उसे On Page SEO कहा जाता है

हम लोग  अच्छे से जानते है की Search Engine Optimization कैसे काम करता है,

On Page SEO करने की बहुत सारी Techniques  होती है और आज हम बात करेंगे उन्ही तरीको के बारे में जिससे आप अपनी Website  की Ranking को तेजी  से सुधार सकते है!

और आपका On Page SEO स्कोर 80 से ज्यादा पंहुचा सकते है.

Web Page Speed:

Web Page Loading Speed
Web Page Loading Speed

कौन चाहता है जब वो Internet पर browse करे तो Websites धीरे-धीरे Load हो!

क्या आप खुद ये पसंद करेंगे?

“हाल ही में की गयी एक research के अनुसार अगर 3 Seconds के अंदर अंदर आपकी Website लोड नहीं होती है तो 53% लोग  उस website को वही छोड़ देते है!” 

आपकी website Light Weight और Fast Loading होनी चाहिए! आप आसानी से अपनी Website की स्पीड को बढ़ा सकते यही अगर आप ये सारी Tricks Follow करें जो मैंने अपने इस Post में समझायी है!

Meaningful Short URL:

Shorter URL for On Page Seo
On Page SEO: Shorter URL’s

बड़े URL Address आपकी Web Page की Visibility को नुकसान पंहुचा सकते है!

नीचे दिए गए दोनों URL में से कौनसा URL ज्यादा Meaningful और visible है

Golden Rule: URL Length Should be less then 17 Words.

https://easyexplain.info/2019-08-19/Articles/how-camera-tool-works-in-excel

या

https://easyexplain.info/camera-in-excel

हमेशा याद रखें,

छोटा और सार्थक – “Short and Sweet” Web Address. आपकी Web Page के URL Address छोटे लेकिन समझने योग्य होने चाहिए।

आपके URL में आपका Target Keyword जरूर आना चाहिए जिसे आप Target करना चाहते हैं। हमे कोशिश करनी चाहिए कि शुरू के 3-4 शब्दों में ही हमारा Target Keyword आ जाए।

आप URL में Category भी Show कर सकते है। अगर आप WordPress Use कर रहे है तो आप सेटिंग्स में जाकर URL Structure को और भी सुंदर, छोटा और समझने योग्य बना सकते है।

ahref द्वारा की गयी study के result आप निचे देख सकते है,

जितने words कम use किये गए है उतना rank ज्यादा है!

लंबे URL Structure से दूर रहें।

 

Use Images, Videos and Info graphic (adds Value to Your content):

 

Proper Use of Multimedia in Posts: On Page SEO
Use Images for Better On Page SEO

इसका सबसे अच्छा Example है Newspaper v/s Magazine.

Newspaper और Magazine में से हमे Magazine पढ़ना हमेशा Entertaining लगता है.

क्योंकि  Magazines में Images का भरपूर Use  किया जाता है,

READ   What is SEO in Hindi?

ज्यादा Images use करने से magazine, newspaper के मुकाबले ज्यादा Entertaining हो जाती है.

अगर आप एक 1000 शब्द से ज्यादा की Post लिख रहे है तो कोशिश ये कीजिए कि, प्रत्येक 250 शब्दों के बाद आप एक Image, Video या किसी Info graphic use करें जिससे आपकी पोस्ट सुंदर दिखे।

इस तरह से आप आपके visitor को Multimedia Rich Experience देते है जिससे कि वो बोर नहीं होता है।

 

Image Optimization:

using images in posts for better on page seo
Using Images in Posts for Better on page SEO

इसमें 3 चीज आती है,

पहली बात, आपकी Image की Size छोटी होनी चाहिए जिससे कि वो जल्दी Download हो सके।

Golden Rule: Use Lossless Quality Image.

आपकी इमेज में आप Description, Alt attribute, Captions में Target keyword का use जरूर करें

आपकी इमेज post से related हो।

 

Use Keyword in Title:

Use Keyword in Title
Use Keyword in Title

जो भी Keyword आप target करना चाहते है उसे अपनी पोस्ट के title में पहले नंबर पर रखे.

आपके Title की length 60 characters ज्यादा की नहीं होनी चाहिए!

किसी भी search engine में Title कैसा दिखता है आप इस Image में देख सकते हैं:

Title Preview in Search Engine
Title Preview in Search Engine

आपको आपके Title की शुरुआत Target Keyword से ही करनी चाहिए, उसके बाद आप चाहे तो अपना Sentence पूरा कर सकते है!

आपको अपने Title को Attractive बनाने चाइये!

 

Interlinking: Most Effective On Page SEO Technique:

Interlinking The Most Effective SEO technique
Interlinking The Most Effective SEO technique

आपकी सारी Posts एक दूसरे से जोड़े रखनी चाहिए. अगर आप आपकी Posts एक दूसरे से Linked रखेंगे तो आपके Visitor का Dwell Time बढ़ेगा.

ये आपको Audience Retention करने में सबसे ज्यादा help करने वाला है.

अगर आप कोई Post लिख रहे है तो उस से related जानकारी आपको उसी Post में लिंक करनी चाहिए.

जैसा की आप इस Post में देख सकते है की इंटरलिंकिंग किस तरह से की जा सकती है.

 

Keyword in H1 Heading:

 

Using Keywrod in H1 Headings for Better Ranking
Using Keywrod in H1 Headings for Better Ranking

H1, HTML की सबसे बड़ी Heading होती है. यहाँ पर आपको आपके Target Keyword का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए.

आपको अपने Posts को पूरा एक ही Paragraph में नहीं लिखना चाहिए!

पूरे Post को Headings और Sub-Sections में divide कर देना चाइये जिससे की लोगो को पढ़ने में और Search करने में आसानी हो.

 

Catchy Title:

Eye Catching Title for Web Page
Eye Catching Title for Web Page

आपकी पोस्ट का टाइटल किसी Newspaper की फर्स्ट पेज की Heading की तरह होना चाइये जो की आपके Audience की Attention ले सके!

आपका Title इतना सटीक होना चाइये जिससे कि पढ़ते ही मन में उत्सुकता का भाव आ जाये, और कोई भी आगे बिना पढ़े रह ही न सके.

आपको आपके टाइटल में Emotional and Attention Grabbing words का इस्तमाल करना चाइये!

READ   What is SEO in Hindi?

 

Responsive Layout:

Responsive Layout for All devices
Responsive Layout for All devices

आज के समय में हम किसी भी वेबसाइट को जल्दी से एक्सेस करने के लिए मोबाइल पर ही ओपन कर लेते है.

इसीलिए आपकी वेबसाइट रेस्पोंसिव होनी चाइये जिससे की वो किसी भी स्क्रीन साइज के ऊपर बहुत अच्छे से सिस्टेमेटिक तरीके से दिख सके.

स्क्रीन साइज सारे devices  की अलग अलग होती है, responsive layout  से आपकी वेबसाइट एक जैसे नजर आती है!

 

Outbound Links:

Hi Quality Outbound Links to Valuable Resources
Hi Quality Outbound Links to Valuable Resources

जैसे की मैंने आपको थोड़ी देर पहले बताया था कि आपको वेबसाइट की सारी पोस्ट्स एक दूसरे से जुडी रेहनी चाइये जिससे की आपके विजिटर को एक ही जगह सारी Information मिल जाये.

लेकिन आप सारी इनफार्मेशन एक जगह नहीं दे सकते, वरना आपका पोस्ट ऑफ थे off the topic चला जायेगा!

Example के लिए मैंने यहाँ Example Word को Outbound लिंक किया है उसकी असली definition जान ने के लिए. Outbound Link करने से आपकी वेबसाइट का Trust and Sharability Develop होती है.

हमें कभी भी Target Keyword को Outbound Link नहीं करना है.

Content is King: Long Content-Better Ranking:

content-is-king
Content is King

कम से कम 1500 शब्द की आपकी पोस्ट होनी चाहिए!

लेकिन,

आपको सटीक लिखना है, off the topic नहीं जाना है!

अगर आपकी पोस्ट 1500 शब्द से कम की है तो उसे गूगल Thin Content consider करता है.

Google  सोचता है की जितना कम लिखा है उतनी कम इनफार्मेशन है!

 

Keyword Density not more then 1.5%

Keyword Density should be around 1.5
Keyword Density should be around 1.5

2008 से पहले आप अपने वेब पोस्ट में जितना ज्यादा Target Keyword use करते थे उतना ज्यादा आपके पेज की Ranking सुधारती थी!

इसे Keyword Stuffing कहा जाता है.

लेकिन गूगल सर्च इंजन के अपडेट होने के साथ साथ सब कुछ बदल गया है, अब अगर ज्यादा बार Target Keyword use करते है तो उसे Spamming कहा जाता है. गूगल ऐसे Pages को Penalty देता है तो ज्यादा Target Keyword उसे करते है.

आपको “नमक “की तरह अपनी पोस्ट में Target Keyword का useकरना चाइये, “एक चुटकी भर!”

Keyword density 1.5% से ज्यादा नहीं होनी चाइये.

 

Browser caching:

Browser Caching
Browser Caching

आप जब कोई भी Browser use करते है तो उसमे एक Temporary Memory होती है उसे Cache कहा जाता है!

जब आपकी website किसी browser में load  होती है तो उसकी scripts उस cache में save  हो जाती है और जैसे ही वेबसाइट close  होती है तो delete  हो जाती है.

दुबारा जब visitor आपकी वेबसाइट विजिट करता है तो आपकी साड़ी स्क्रिप्ट्स उसमें दुबारा download  होती है!

इससे हो ये रहा है की आपकी scripts  बार बार download  हो रही है, और Website Loading Speed slow होती है!

READ   What is SEO in Hindi?

लेकिन browser caching plugins की मदद से आप उन  scripts एक बार में ही download कर के save कर देते  है, जिससे की जब user आपकी website दुबारा visit करेगा तो आपकी scripts browser के cache में already save रहेंगी  or page जल्दी से load हो जायेगा!

 

Sharing is Caring:

Social Media Sharing
Social Media Sharing

Social Media Platforms के ऊपर आपकी Website Presence होने ही चाहिए!

अगर आपके वेबसाइट का content बहुत अच्छा है और आपके Visitors उस Content को अपने Friends के साथ share करना चाहते है तो कैसे करेंगे?

Facebook, Twitter जैसे प्लेटफॉर्म्स को आपको Integrate करना चाहिए जिससे की आपके Content Sharable हो सके!

 

Mobile friendly website (AMP Enabled):

Accelerated Mobile Pages
Accelerated Mobile Pages

AMP का मतलब होता है Accelerated Mobile Pages.

आपकी Website Responsive होने के साथ साथ AMP Enable होने चाइये जिससे की वो मोबाइल पर 1 सेकंड के अंदर अंदर लोड हो जाये!

अगर आप WordPress पर है तो आप AMP Plugin का use कर के आपकी वेबसाइट को AMP Enable कर सकते हैं!

 

SSL Certificate:

SSL Certificate
SSL Certificate

आपकी Website का Protocol अगर Secure होगा तो Google Ranking में उसे Priority दी जाएगी!

आपकी Website में एक SSL सर्टिफिकेट install करे जिससे की आपका Protocol HTTP:// से बदलकर HTTPS:// हो जायेगा!

SSL एक Secured Network Layer होती है जो की आपकी Website की Information को Encrypt कर के रखती है!

इससे Trust Develop होता है तो OFF Page SEO में आपको बहुत Help करेगा!

 

Website Navigation:

Website Navigation for Better On Page SEO
Website Navigation for Better On Page SEO

आपकी वेबसाइट का Navigation बहुत ही Clear, Categorized और Visible होना चाइये. Navigation को आप आपकी वेबसाइट का Menu Bar भी समझ सकते है.

यहाँ से User decide कर सकता है कि उसे जाना कहाँ है और क्या पढ़ना है!

आगे वाली पोस्ट में हम सीखेंगे की Off Page SEO क्या होता है!

Overall अगर आप अपने साथ एक Infographic को Save करना चाहते है जिसमे एक ही Image में सारे On Page Seo के points लिखे हो  तो आप इस Image को save कर सकते है!

How to Do On Page SEO in Hindi in One Image
How to Do On Page SEO in Hindi in One Image

अगर आपको ये पढ़ने में अच्छा लगा है तो अपने दोस्त के साथ जरूर शेयर करे! और हमसे जुड़े रहने के लिए Facebook, Instagram और Twitter पर फॉलो जरूर करे! 

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *