Blogging क्या है और अपना Blog कैसे बनायें ? (2020)

Blogging क्या है और अपना Blog कैसे बनायें ? (2020)

Blogging क्या है ? [What is Blogging in Hindi?]

Meaning of Blogging: “संवाद शैली (Conversational Style) में लिखे गए लेख जो किसी वेबसाइट पर नियमित रूप से लिखे जाते है उन्हें Blog कहा जाता है और इस प्रक्रिया को Blogging कहते हैं।”  

आज हम जानेंगे Blogging क्या है, और हम अपने Blog की शुरुआत कैसे कर सकते हैं?

Blogging को समझने से पहले हम ये जान लेते  है कि  Blog क्या होता है?

Blog शब्द Web log से आया है – जब आप Web (इंटरनेट) पर कुछ लिख कर रिकॉर्ड (Log)  करते है तो उसे web log कहा जाता है।

इस प्रकार “इंटरनेट पर लिखने उस प्रक्रिया “को Web Logging कहा जाता है और शॉर्ट में इसे “Blogging” कहते हैं।

 

Meaning-of-Blogging

अब सवाल ये आता है की लिखते कहाँ है?

Internet पर ब्लॉग लिखने के लिए सबसे प्रचलित 2 माध्यम है पहला है WordPress और दूसरा है Blogger. ये दोनों ही माध्यम बिलकुल फ्री है, जहां आप Blogging की शुरुआत कर सकते है!

अभी जो आप पढ़ रहें है ये भी एक Blog है जिसे मैंने WordPress पर बनाया है, हम कुछ देर बाद में जानेगे की यह कैसे करना है।

आप इन दोनों में से किसी एक Platform पर अपना ब्लॉग सेटअप कर सकते हैं!

इस तरह के Blog पर आप (Informative) जानकारीपूर्ण Posts और Articles लिखते है जो 500 से 2000+ शब्दों के होते है!

Posts और Articles लिखना  आपके Interest, Hobbies और Passion के ऊपर निर्भर है, यदि आपको फ़िल्मी सितारों और Bollywood में रूचि है तो आप इससे सम्बंधित  Blog लिख सकते हैं,

Read: SEO Kya Hota Hai?

उदाहरण के लिए RVCJ  एक ऐसा Blog है जहां आप इसी तरह की  जानकारी देख सकते हैं:

Example-of-Bollywood-Interest-Blogging

 

इसी प्रकार से हज़ारों ब्लॉग इंटरनेट पर मौजूद हैं!

अब हम जानते है की blog कितने तरह के होते है?

Blog कितने प्रकार के होते हैं ? [What are the Types of Blog?]

  1. Technology Blog: जो लोग नयी नयी technology के बारे में रुचि रखते है वो tech blog बनाकर उस पर लिखते हैं
  2. Food Blog: जिन्हे कहते खाने पिने और पकाने का शौक है वो Food Blog बनाते है और उससे सम्बंधित जानकरी साझा करते है।
  3. Book Blog: जिन्हे किताबे पढ़ने का शौक है और वो उन किताबो को Review करने की प्रतिभा रखते है बो इस तरह का blog बनाते है।
  4. Fashion Blog: Fashion से सम्बंधित जानकारी साझा करने के लिए
  5. Fitness Blog: Gym, Workout , Yoga आदि में  रूचि रखने वाले इस तरह का blog बनाते है।
  6. Music Blog: विभिन्न प्रकार के Albums, Singers, Songs, Musicians और Music Instruments के बारे में जानकारी साझा करना।
  7. Sports Blog: क्रिकेट, फूटबाल, हॉकी और इंडोर गेम्स के ऊपर जानकारी लिखना जैसे खेलों और matches पर अपनी राय प्रकट करना।
  8. Gaming Blog: अगर आप एक Gamer है तो Games review कर सकते है।
  9. Travelling Blog: अगर आपको घूमने फिरने और यात्रा करने का शोक है तो आप विभिन्न दर्शन स्थलों के बारे में भी जानकारी दे सकते हैं।
  10. Movie Blog: Movie Critique विषय पर आप एक ब्लॉग की शुरुआत  कर सकते है जिस पर आप विभिन्न फिल्मों का review दें।
  11. Top 10 List Blog: इस तरह के blog में आप किसी भी तरह की एक लिस्ट बना सकते है जो आपको सबसे अच्छी लगती है।
  12. News Blog: Inside News के ऊपर एक ब्लॉग यदि आप एक अच्छे reporter हैं।

आदि।

आप किसी भी Topic के ऊपर ब्लॉग बना सकते हैं और सफल हो सकते हैं, बशर्ते आपका Interest उसमे बरक़रार रहे।Click To Tweet

यदि आप पूरा दिन whatsapp चलते रहते है तो लोगो ने इसके ऊपर भी एक ब्लॉग बनाया है जिस पर वो केवल whatsapp से संबंधित जानकारी ही देते है.

WAbetainfo एक ऐसी ही ब्लॉग का उदहारण है जो Whatsapp से सम्बंधित सभी Updates की जानकारी आप तक पहुंचाता है!

Types-of-Blog

 

Blogging कितने प्रकार की हैं ? [What are the Methods of Blogging?]

हमने  अभी देखा था कि ब्लॉग कितने प्रकार के हो सकते हैं, अब हम जानेंगे की blogging कितने प्रकार से की जा सकती है:

Natural Blogging: अभी जो आप पढ़ रहे हैं ये Natural Blogging का ही एक सबसे अच्छा उदाहरण है, इस तरह की ब्लॉग्गिंग में आप Interest based आर्टिकल्स और पोस्ट्स लिखते हैं, सामान्यतः ये लम्बे Blog Posts होते हैं और ये बड़ी audience को target करते है जो की सामान्य रूप से विशवस्नीय स्त्रोतों से पढ़ना पसंद करती हैं!

इस तरह के blogs का content रिसर्च कर के लिखा जाता है!

Auto Blogging:  Auto Blogging को Content Aggregation (Copy – Paste) blogging भी कहा जाता है , इसमें  एक plugin या programming code द्वारा किसी Topic पर पहले से ही मौजूद दूसरे Blogs के पोस्ट्स, आर्टिकल्स और न्यूज़ के content को कॉपी कर के घुमा फिराकर publish कर दिया जाता है, इस पूरी प्रक्रिया को कुछ mouse के बटन दबाकर सेकण्ड्स में पूरा किया जा सकता है!

Event Blogging: त्योहारों, खेल की सीरीज, चुनाव आदि प्रकार के इवेंट्स के दौरान की जाने वाली इवेंट ब्लॉग्गिंग कहते हैं, ये ब्लॉग्गिंग सदाबहार नहीं होती और उस इवेंट के ख़तम होने पर बंद हो जाती है, इसे आप advertisement blogging भी कहते हैं!

Micro Niche Blogging: जब आप किसी पुरे विषय पर ब्लॉग्गिंग न कर के उस विषय के किसी एक बिंदु पर ब्लॉग्गिंग करते है उसे Micro Niche ब्लॉग्गिंग कहा जाता है, उदाहरण के लिए यदि आपका Interest क्रिकेट है तो आप क्रिकेट खेल पर न लिख कर उसमे उपयोग आने वाले सामग्री जैसे Bat, Stumps, Ball आदि पर blogging करे तो उसे Micro Niche ब्लॉग्गिंग कहा जाता है!

Affiliate Blogging:  यदि आप Amazon या Clickbank  या Flipcart जैसी वेबसाइट के Affiliate Member तो आप Affiliate ब्लॉग्गिंग करते है, इस तरह की ब्लॉग्गिंग में आप अपने Affiliate Products के बारे में लिखते हैं, यदि आपके blog पे कोई उसे पढ़कर खरीदता है तो उसका commision आपको मिलता है, इस तरह के blogs में आप review और Top, best शब्दों से सम्बंधित पोस्ट लिखते हैं।

Micro Blogging: इस तरह की ब्लॉग्गिंग में आप सिर्फ 2 चीज़ों पर ध्यान देते है पहली होती है Frequency (लगातार नए पोस्ट्स ), और दूसरी होती है Short Posts. Micro Blogging का सबसे अच्छा उदहारण Twitter है, अगर आप एक news blog बनाना चाहते है और Content से ज्यादा Speed पर ध्यान देना चाहते है तो Micro ब्लॉग्गिंग आपके लिए सबसे अच्छा ऑप्शन है।

Guest Blogging: गेस्ट ब्लॉग्गिंग में आप एक मेहमान के रूप में किसी और के ब्लॉग पर अपने पोस्ट्स या आर्टिकल्स लिखते है, इसे Guest Posts  भी कहा जाता है।

आपकी Blogging का उद्देश्य हमेशा पढ़ने वालो की Value Addition होना चाहिए। Click To Tweet

Read: On Page SEO Kya Hota Hai?

आपको Blogging क्यों करनी चाहिए ? [Why You Should Start Blogging?]

Blogging करने के कई फायदे है और मुझे सबसे बड़ा फायदा ये लगता है कि इससे आप अपने Interest और Passion से हमेश जुड़े रहते हैं, यही चीज़ आपको लगातार कुछ अच्छा करने की और कर गुजरने की चाहत जो ज़िंदा रखता है।

यहाँ मैंने ब्लॉग्गिंग से होने वाले फायदे को तीन मुख्य भागों में रखा है-

Benefits of Blogging:

Personal Benefits: जैसा की मैंने आपको बताया की अपने Interest , Passion को जिन्दा रखने के लिए, अपने अनुभव को साझा करने के लिए और सामान्यतः एक नयी Constructive Hobby (रचनात्मक शगल) को बनाने के लिए आपको ब्लॉग्गिंग शुरू करना चाहिए।

इससे आप अपने Interests में हमेशा अपडेट रहते है और साथ ही साथ आपको दूसरी चीज़ो के बारे में भी जानकारी मिलती रहती है जो भले ही आपके काम न आये लेकिन भविष्य में किसी और की मदद करने में काम सकती है।

Social Benefits: ब्लॉग्गिंग के दौरान जब भी आप कोई पोस्ट या आर्टिकल लिखते है तो आप गहन अध्ययन (Thorough Research) करने के बाद ही लिखते है, आपके लिखने का उद्देश्य एक ही होता है कि आर्टिकल या पोस्ट में समग्र महत्वपूर्ण जानकारी पाठक को मिल जाये और उसे किसी दूसरी जगह जानकारी इकठ्ठा करने न जाना पड़े,

इस तरह आप सामाजिक स्तर पर दुसरो को सही जानकारी प्रदान करके उनके जीवन और ज्ञान में Value add करते है!

और दुसरो के  ज्ञान वर्धन में मदद करना एक सामाजिक परोपकार ही तो है।

Financial Benefits: ब्लॉग्गिंग करने पर और आये दिन नये-नये पोस्ट्स, आर्टिकल्स लिखने पर आप एक Content Publisher बन जाते है, अच्छा कंटेंट पब्लिश करने पर आपके ब्लॉग पर लोग पढ़ने आते है और आप अपने ब्लॉग में advertisement लगा सकते है जिससे आप अपने ब्लॉग से पैसे कमा सकते है इसके लिए Google Adsense सबसे बड़ा एक प्लेटफार्म है जो आपके ब्लॉग पर Ads दिखने के लिए आपको पैसे देता है इस प्रकार आप अपने ब्लॉग से पैसे कमा सकते हैं,

दूसरा तरीका है Affiliate Marketing करना, जिससे आपके ब्लॉग से प्रभावित होकर कोई अगर वो वास्तु या सेवा खरीदता है तो आपको उसका commission मिलता है।

जब भी आपको अपने Passion को पैसों में और Interest को Income में बदलने की चाहत हो तब आपको Blogging करना शुरू कर देना चाहिये। Click To Tweet

क्या वेबसाइट और ब्लॉग एक ही है? [Are Websites and Blog Same?]

वेबसाइट और ब्लॉग में सिर्फ इतना सा फर्क है की वेबसाइट static (परिवर्तनहीन) होती है और ब्लॉग dynamic (परिवर्तनशील) होते है, वेबसाइट एक स्थिर जानकारी देने का एक माध्यम है जिसमे वो जानकारी हमेशा नहीं बदलती है!

Blog पर आये दिन आप नयी नयी जानकारी Articles के रूप में पोस्ट करते रहते हैं।

उदाहरण के लिए वेबसाइट एक Digital Brochure होता है  जिसमे आप अपने Business या Service के बारे में ऑनलाइन जानकारी मौजूद करवाते है जिससे की वो आप तक पहुंच सके,

इसके विपरीत एक ब्लॉग एक ऐसा माध्यम होता है जिससे आप अपने Regular Readers को नयी नयी जानकारी देकर नए Audience तक पहुंचने कर प्रयास करते हैं!

Read: OFF Page SEO Kya Hota hai?

Blogging as a Career and Jobs:

Blogging में दो प्रकार से करियर बनाया जा सकता है:

1. Publisher के रूप में: Publisher या प्रकाशक के रूप में आप ब्लॉग्गिंग में अपना करियर तब शुरू कर सकते है जब आप पहले से ही एक लेखक के रूप में अपनी अच्छी पहचान स्थापित कर चुके हो, आप उस पहचान और अपनी सकारात्मक छवि को उपयोग में ले कर एक विषय पर Blog शुरू कर सकते हैं।

यहाँ आप अपने ब्लॉग पर अपने लेख प्रकाशन के साथ दुसरो के भी लेख प्रकाशित कर सकते हैं, जो स्वेच्छा से आपके Blog पर अपनी छवि बनाना चाहते हों! इसका सबसे अच्छा उदाहरण वास्तविक जीवन में किसी भी Magazine का होगा, किसी भी magazine में प्रकाशक के साथ साथ दूसरे लेखक भी अपना योगदान दे सकते हैं।

2. Content Writer: यदि आपको लिखना पसंद है तो आप किसी भी Website या Blog के लिए कंटेंट लिख सकते है यहाँ कंटेंट, लेख, आर्टिकल्स और पोस्ट्स के रूप में लिखा जाता है, यह कंटेंट उस वेबसाइट या ब्लॉग पर किसी टॉपिक पर लिखा जाता है ताकि उस वेबसाइट का प्रमोशन हो।

Blogging सम्बंधित नौकरी पाने के लिए आप निम्नलिखित Websites पर जा सकते है और अपने आप को रजिस्टर कर के Jobs पा सकते हैं –

  1. Freelancewritinggigs
  2. Upwork
  3. Problogger

Best Blogging website Platforms: Free and Paid

  1. WordPress
  2. Blogger
  3. Medium

 

WordPress:

WordPress का दावा है की पूरी दुनियाँ में जितनी भी websites है उनमे 36% वेबसाइट WordPress Platform बनी हुई हैं, ये एक बेहतरीन फ्री website है जहां आप अपने blog कि शुरुआत कर सकते है! WordPress के दो प्रकार है, पहला है wordpress.com और  दूसरा है wordpress.org.

यदि आप किसी भी प्रकार से पैसे खर्च नहीं करना चाहते हैं तो wordpress.com आपके लिए एक बेहतर विकल्प है, यहाँ आपको hosting में पैसे खर्च नहीं करने होंगे। सिर्फ एक ईमेल अकाउंट से आप अपना ब्लॉग सेट अप कर सकते हैं।

wordpress.org एक CMS (Content Management System) प्रदान करती है जो की उपयोगिता की द्रष्टि से wordpress.com की तर्ज़ पर ही काम करता है लेकिन आपको इसके लिए एक Hosting और Domain Name खरीदना पड़ता है।

Blogger:

Blogger  प्लेटफार्म Google का स्वयं का एक Blogging प्लेटफार्म है जहां आप फ्री में अपने Gmail अकाउंट द्वारा मिनटों में अपना blog बना कर चला सकते है, इसमें किसी प्रकार की कोडिंग जानने की आवश्यकता नहीं है ,

लेकिन यदि आपको थोड़ी बहुत HTML या CSS का ज्ञान है तो आप छोटे मोठे Customization कर अपने ब्लॉग को सुन्दर बना सकते हैं।

Medium:

Medium प्लेटफार्म आपको एक अलग ही स्तर पर ले जाता है, यहाँ आप की audience और लिखने वाले बहुत ही Professionals होते हैं, अगर आपमें प्रतिभा है तो Medium सबसे बेहतरीन माध्यम है आपकी लिखने की प्रतिभा को दर्शाने का, यहाँ आप केवल English में ही Articles लिख सकते हैं!

ब्लॉग्गिंग को शुरू कैसे करें? [How to Start Blogging?]

How-to-Start-Blogging

आपने WordPress या Blogger में से किसी पर अपना अकाउंट बना दिया है, अपना ब्लॉग सेटअप कर लिया है और सिर्फ लिखने की ही देरी है ,

सवाल ये आता है कि लिखें क्या ?

जैसा की मैंने आपको पहले ही बताया था, ब्लॉग्गिंग में आपके पास दो चीज़े होना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है: Interest और Passion. अगर ये दोनों आपके पास है तो आप आसानी से एक सफल ब्लॉग बना सकते है!

Blogging में आपको अपने पसंदीदा विषय पर किस Topic पर Blog लिखना चाहिए, जिससे की लोगो को उसी विषय पर नयी जानकारी मिले या उस विषय पर बेहतर जानकारी मिले ? 

यहाँ नयी जानकारी और बेहतर जानकारी पर ध्यान देना बहुत ही आवश्यक है!

उदाहरण के लिए यदि आप elections के रिजल्ट आने  के बाद अपने ब्लॉग पर ये प्रकाशित कर रहे हैं की कोनसी पार्टी जीतेगी तो कोई उसमे रुचि नहीं दिखाएगा और लोग नहीं पढ़ेंगे, यहीं अगर आप ये दिखाएं की किस तरह की रणनीति से पार्टी विजय हुई तो लोग जरूर पढ़ना पसंद करेंगे।

आइये अब जान लेते है की आपके विषय पर आप किस किस तरह से ब्लॉग लिख सकते हैं :

1. Expert Advice:   यदि आप एक इंजीनियर है या Tax Consultant है या किसी भी प्रकार के Profession में है तब आपको उस तरह की जानकरी लोगो तक पहुचानी चाहिए जो की आम लोग कभी उन बिन्दुओ पर ध्यान नहीं देते। उदाहरण के लिए Tax भरने के फायदे एक Tax Consultant से ज्यादा और कोई नहीं जान सकता।  लेकिन यही जानकारी आप लोगो तक पहुचाये जैसे : Tax भरने के 10 फायदे जो आपको भविष्य में मिल सकते हैं ?

इस तरह आप अपनी expertise को लोगो तक पहुंचाते है, इससे आपकी छवि भी बनती है और लोगो को आपके ज्ञान की अनुभूति भी होती है!

2 .  Comparing: आप किसी एक वस्तु या सेवा को दूसरी से तुलना (Compare) कर के बता सकते है, इसके लिए जरुरी नहीं की आप Expert हों, लेकिन ये जरुरी है की आपको दोनों वस्तुओं का ज्ञान हो!

उदाहरण के लिए यदि आपको Mobile पर game खेलना पसंद है तो आप एक गेम की तुलना दूसरे गेम से कर सकते है, जैसे Weapons in PUBG vs Weapons in Call of Duty.

3. Bio Blogging: Bio Blogging में आप किसी भी एक हस्ती (Role Model) या Public Figure को ले लीजिये जिसने लोगों के सोचने और काम करने का तरीका ही बदल दिया हो।  आप उस व्यक्ति के मूल्यों, सेवाओं और योगदान के ऊपर भी ब्लॉग बना सकते है!

यहाँ आप उनके द्वारा कहे गए Quotes, Principles के बारे में लिख सकते है और वर्तमान परिस्तिथि में “यदि वो होते तो क्या करते?”  इस प्रकार की प्रेरक (Motivational) बाते लिख कर लोग तक पंहुचा सकते है।

4. How To: ये सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली ब्लॉग्गिंग होती है यहाँ आप लोगो को किसी चीज़ को करना सिखाते है जैसे Online Loan कैसे apply करे?, Tax कैसे बचाएं ?, अपने फ़ोन की स्पीड कैसे बढाये? और Blog कैसे बनायें? आदि!

5. Lists:  लिस्ट या सूचियाँ इंटरनेट पर सबसे ज्यादा शेयर होने वाला कंटेंट होता है, यहाँ आप लिस्ट किसी भी विषय में बना सकते हैं इसकी कोई सीमा ही है. यहाँ अधिकार Top Ten , Top Five या Top Three इस तरह की सुचिया लिखी जाती हैं।

6. Interviews: सबसे ज्यादा चर्चित और पसंद किया जाने वाला टॉपिक है Interviewing. अगर आपकी अच्छी छवि और पहुंच है तो आप इस दिशा में आगे बढ़ सकते है लेकिन जैसे ही हम Interview का नाम लेते है हमारे दिमाग में सिर्फ Bollywood Stars की छवि ही आती है,

सिर्फ ऐसा नहीं है, आप लोग लोकल लेवल से शुरआत कर सकते है जैसे किसी Competetion Exam की तयारी के दौरान IAS Officer का इंटरव्यू जिससे की उस परीक्षा में बैठने वालो को interview पढ़ने के बाद Motivation मिले और भी अच्छे से तयारी करे!

हमेशा याद रखे आपको आपके पोस्ट्स के माध्यम पढ़ने वालो में Value Add करनी है!

7. Resources For More:  यहाँ वो सारे Links और Websites आप शेयर करते है जो की लोग आम तौर पर search नहीं करते हैं,

उदहारण के लिए आप वो सारी websites बताते है जहा से आप फ्री में Photos और Videos डाउनलोड कर सकते हैं, या फिर आप ये भी बता सकते है की किसी विषय पर Online कोर्सेज कहाँ कहाँ से कर सकते है!

8. Reviewing: जैसा की नाम से ही पता चल रहा है, किसी भी सेवा या वस्तु को review करना और अपने विचार प्रकट करना, उसके लाभ और हानि बताना आदि, बहुत प्रकार की Blogs इस पर बनी हुई है और इसमें Competition भी ज्यादा है,

लेकिन आप यदि सबसे पहले review कर देते है तो आप बहुत आसानी से सफल हो सकते है।

9. Stories: यहाँ आप आम जीवन में मार्गदर्शन देने वाली कहानियां लिख सकते है, इस प्रकार से आप बच्चों, युवा और बुजुर्ग – अलग अलग ग्रुप को ध्यान में रखते हुए कहानिया लिख सकते हैं!

10. Steps To: यहाँ आप किसी भी काम को करने की Workflow को बता सकते है Step by Step के प्रोसेस से, ये Process कुछ भी हो सकते हैं जैसे 10 Steps में फोटो को Black n White से कलर कैसे किया जाता है, या Passport apply करने के कोनसे कोनसे चरण हैं ?

 

Conclusion:

आप जो मर्जी आये अपने ब्लॉग पर लिख सकते है, लेकिन आपका ब्लॉग बनाने उद्देश्य बिलकुल स्पष्ट होना चाहिए। आप यह सोच कर ब्लॉग बना रहे है की मुझे जो जानकारी पता है वो किसी को नहीं पता तो पहले उस जानकारी को सवाल के रूप में Google पर देखें और थोड़ी रिसर्च करें।  यदि रिसर्च में आप ये पाते है की आपसे ज्यादा अच्छे से जानकारी को पहले ही किसी ने बता रखा है तो आप उसके पीछे न भागें, बजाये ये देखें  पहले से ही उपस्थित जानकारी में क्या और जोड़कर उसे और भी सटीक बना सकते हैं।

हमेशा याद रखें, बेहतर तरीके से लिखी जानकारी या नयी-नयी जानकारी पर ही ध्यान दे क्योकि यही दोनों चीज़े आपको भीड़ में से अलग करेंगी।

529 Shares

 

Akash Gurjar

Hi, I am Akash. I am Hobbyist Blogger and YouTube Creator. I like to explore and learn new things all the time. I own a website easyexplain.info and a YouTube Channel EasyExplain. Join Me.

This Post Has One Comment

Leave a Reply